You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

PLANT IT, POST IT!

Start Date: 28-07-2021
End Date: 28-07-2022

Do not shy away from planting trees. Be proud of it. Give your new generation a healthier, greener and pollution-free world. Plant a tree, take a selfie, post it here.

See details Hide details

Do not shy away from planting trees. Be proud of it. Give your new generation a healthier, greener and pollution-free world.
Plant a tree, take a selfie, post it here.

All Comments
#Environment #selfie #plants #green #trees #planting #saplings
Reset
553 Record(s) Found
1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

एक भी पेड़ न लगा सकने से कवि को क्या कमी महसूस हो रही है?
उत्तर एक भी पेड़ न लगा सकने से कवि को क्या कमी महसूस हो रही है एक भी पेड़ न लगा सकने पर कवि को अपराध बोध हो रहा है।
शिशुओं के समान कौन रोता है ? उत्तर जब पेड़ों की डालियाँ करती है तो वे शिशुओं के समान दुख महसूस करके रोते है।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

पौधों की वृद्धि के लिए क्या करें?
1.अच्छी किस्म के पौधे चुनें।
2.पौधे के अनुसार करें उचित जगह का चयन।
3.बीज या पौधे को सही तरीके से लगाएं।
4.पौधों को सही तरीके से दें पानी।
5.समय-समय पर पौधों की छटाई करें।
6.पौधों को सही जलवायु व सहायता प्रदान करना।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

पेड़ पर्यावरण को कैसे शुद्ध रखते हैं?
पौधे वातावरण के लिए फेफड़ों का काम करते हैं| ये ऑक्सीजन छोड़ते हैं और वातावरण से कार्बन डाईऑक्साइड सोख कर हवा को शुद्ध बनाते हैं| पौधों की पत्तियां भी सल्फ़र डाई ऑक्साइड और नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड जैसे ख़तरनाक तत्व अपने में समा लेती हैं और हवा को साफ़ बनाती हैं|

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

सड़क के किनारे पेड़ क्यों लगाया जाता है?
सड़क के दोनों ओर लगाये गये वृक्षों का मुख्य उद्देश्य छाया प्रदान करना होता है। इसलिये वृक्षारोपण करते समय ऐसे वृक्षों का चुनाव करना चाहिए जो शीघ्रता से वृद्धि करने वाले हो तथा लम्बे, चौड़े, छत्र आकार वाले वृक्ष हों, जिनकी छाया सड़कों पर भी पड़ती हो। इस दृष्टि से नीम, महुआ, आम, इमली जैसे- वृक्ष अधिक उपयोगी होते हैं।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

पेड़ पौधों की रक्षा क्यों करनी चाहिए?
प्रकृति की अनमोल देन पेड़-पौधों का सीधा संबंध हमारे जीवन से जुड़ा है। पेड़ों से प्राप्त होने वाले ऑक्सीजन पर हमारा जीवन निर्भर होता है। चिलचिलाती धूप में घने पेड़ों की छाया मां की ममता के समान सुकून देता है। पेड़ों की संख्या बढ़ाने के साथ ही इसकी समुचित देखभाल हमारा नैतिक जिम्मेवारी भी होती है।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

वृक्षारोपण क्यों आवश्यक है और उसके क्या लाभ है?
वृक्षारोपण के बुनियादी लाभों में से एक यह है कि वे जीवन देने वाली ऑक्सीजन प्रदान करते हैं और जानवरों द्वारा छोड़ी गई कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करते हैं। हालांकि पेड़ न सिर्फ हमें ऑक्सीजन देते हैं बल्कि फल, लकड़ी, फाइबर, रबर आदि और भी बहुत कुछ प्रदान करते हैं। पेड़ पशुओं और पक्षियों के लिए आश्रय का भी काम करते हैं।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

वृक्षारोपण क्यों आवश्यक है?
वृक्षारोपण के पीछे का कारण ज्यादातर वनों को बढ़ावा देना, भूनिर्माण और भूमि सुधार है। वृक्षारोपण के इन उद्देश्यों में से प्रत्येक अपने स्वयं के अनूठे कारण के लिए महत्वपूर्ण है। वृक्षारोपण के सबसे सामान्य उद्देश्यों में से एक वनों को बढ़ावा देना है। पृथ्वी पर पारिस्थितिक संतुलन बनाए रखने के लिए वन अत्यंत महत्वपूर्ण हैं।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

वृक्षारोपण अभियान का क्या अर्थ है?
वृक्षारोपण में वानिकी, फलदार, चारावाली इत्यादि पौधे शामिल होंगे। किसानों को प्रत्येक केवीके द्वारा वृक्षारोपण के लिए पौधे (अंकुर) उपलब्ध कराए जाएंगे। इस मौके पर बड़ी संख्या में किसानों में जागरूकता पैदा करने के लिए केवीके कृषक गोष्ठी का आयोजन करेगा।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

पीपल का पेड़ काटने से क्या होता है?
इस महत्ता को ध्यान में रखकर भी शास्त्रों में इसे काटने की मनाही है। मान्यता है कि पीपल की पूजा से शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है। अगर कोई पीपल के वृक्ष को नुकसान पहुंचाता है, तो उसे शनि का कोप झेलना पड़ सकता है। शास्त्रों के अनुसार पीपल का पेड़ कटते हुए देखने से शनिदोष लगता है।

1908540

BrahmDevYadav 6 months 1 week ago

क्या पेड़ काटना अपराध है?
सरकार की अनुमति के बिना पेड़ को कटाना अपराध है। भारतीय वन कानून 1927 के अनुसार सेक्शन 68 के अंतर्गत पर्यावरण कोर्ट में मामला दर्ज हो सकता है। इसमें पेड़ों की चोरी, पर्यावरण को नुकसान पहुंचने और प्रदूषण एक्ट के तहत मामला दर्ज हो सकता है।